भाजपा का पंडित नेहरू पर आरोप

भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 66वीं पुण्यतिथि पर उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत भाजपा के नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर सत्तारूढ़ दल के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की जांच का आदेश देने से इन्कार कर दिया था।

रविवार को मुखर्जी को श्रद्धांजलि देने के लिए नड्डा पार्टी अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ भाजपा मुख्यालय पहुंचे। जेपी नड्डा ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मुखर्जी के निधन पर पूरे देश ने जांच की मांग की थी, लेकिन पंडित (जवाहरलाल) नेहरू ने ऐसा कोई आदेश नहीं दिया। इतिहास इस बात का गवाह है। उन्होंने कहा कि मुखर्जी का बलिदान कभी भी व्यर्थ नहीं जाएगा।

इस मौके पर मौजूद अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में ‘अवैध रूप से’ प्रवेश करने पर उन्हें इसी राज्य में लखेनपुर में गिरफ्तार कर लिया गया था। उसके बाद जम्मू और कश्मीर में ही हिरासत के दौरान 23 जून, 1953 को उनकी मौत हो गई थी। उल्लेखनीय है कि तब जम्मू-कश्मीर में प्रवेश करने के लिए सभी गैर प्रांतीय भारतीयों को लिखित रूप से परमिट लेना होता था। इसी बेजा कानून का विरोध करने के लिए मुखर्जी ने राज्य में बिना परमिट के प्रवेश किया था।

उनका मानना था कि देश ही सर्वोच्च है। इसीलिए देश की एकता और अखंडता के लिए उन्होंने सत्ता और सब-कुछ छोड़ दिया था। शाह ने हिंदी में ट्वीट भी किया कि देश में ‘दो विधान दो निशान’ नहीं होने चाहिए। उन्होंने देश की एकता और अखंडता के लिए ‘एक विधान, एक प्रधान, एक निशान’ आंदोलन चलाया था। शाह ने कहा कि अगर हम आज बिना किसी परमिट के जम्मू और कश्मीर जा पा रहे हैं तो इसका श्रेय डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी को ही जाता है। मैं उनके शहीद दिवस पर ऐसे देशभक्त के चरणों में नमन करता हूं।

जीवन देश की अखंडता के लिए न्योछावर किया : वेंकैया
उप राष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने कहा कि मुखर्जी ने देश के विकास के लिए अथक श्रम किया। वह प्रख्यात शिक्षाविद्, सुधारक और प्रशासक के रूप में अपने निशान छोड़ गए हैं। वह एक प्रबल देशभक्त और गौरवशाली राष्ट्रवादी थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन भारत की एकता और अखंडता के लिए न्योछावर कर दिया। वह केंद्रीय उद्योग मंत्री रहे और जाने-माने सांसद थे।

मोदी ने भी दी श्रद्धांजलि :प्रधानमंत्री
नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि एक मजबूत राष्ट्र और एकजुट राष्ट्र के प्रति उनकी प्रतिबद्धता ने हम सबको 130 करोड़ भारतीयों की सेवा के लिए प्रेरित किया है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com