बंगाल हिंसा – भाजपा का आरोप- जय श्री राम के नारे लगाने पर पुलिस ने गोलियां चलाईं

पश्चिम बंगाल में बांकुरा जिले के पंचासायर गांव में शनिवार को पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच मुठभेड़ में दो लोग जख्मी हो गए। भाजपा का आरोप है कि कार्यकर्ताओं द्वारा जय श्री राम के नारे लगाने पर पुलिस ने उन पर गोलियां चलाईं और लाठियों से भी पीटा। वहीं, गृहमंत्री अमित शाह के आदेश पर तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल हिंसा की रिपोर्ट के लिए उत्तर 24 परगना जिले के भाटपारा पहुंचा था। इसके तुरंत बाद वहां फिर हिंसा भड़क गई। इस दौरान पुलिस पर बम भी फेंके गए।

बांकुरा में तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुवेंदु अधिकारी गुरुवार को एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनके सामने जय श्री राम के नारे लगाए। इसके बाद तृणमूल और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हंगामा होने लगा। भाजपा का आरोप है कि इसी दौरान पुलिस ने उनके कार्यकर्ताओं पर गोलियां भी चलाईं, जिसमें 14 साल के एक लड़के समेत दो लोग घायल भी हुए। भाजपा सांसद सुभास सरकार ने कहा, ‘‘पुलिस कह रही है कि उसने दंगाइयों से निपटने के लिए गोलियां चलाईं, जबकि यह पूरी तरह से गलत है।’’

हिंसा की रिपोर्ट के लिए शाह ने प्रतिनिधिमंडल भेजा

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के निर्देश पर गठित पार्टी के 3 सदस्यीय उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को दावा किया कि भाटपारा में गुरुवार को पुलिस फायरिंग में दो भाजपा कार्यकर्ताओं की मौत हुई थी। पूर्व केंद्रीय मंत्री और बर्द्धमान-दुर्गापुर के सांसद एसएस अहलूवालिया की अगुआई वाले प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि यदि पुलिस ने हवा में गोलियां चलाई थीं तो दो कार्यकर्ताओं रामबाबू साव और धर्मवीर साव को एसएलआर और इंसास राइफल की गोलियां कैसे लगी?

रिपोर्ट शाह को सौंपेंगे

प्रतिनिधिमंडल में अहलूवालिया के साथ पार्टी के दो अन्य सांसद, मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त सत्यपाल सिंह और  झारखंड के पूर्व पुलिस महानिदेशक बीडी राम शामिल हैं। प्रतिनिधिमंडल के साथ बैरकपुर से पार्टी के सांसद अर्जुन सिंह भी साथ में थे। उन्होंने घटना की उच्चस्तरीय जांच कराने की भी मांग की। प्रतिनिधिमंडल हिंसाग्रस्त क्षेत्र की रिपोर्ट शाह को सौंपेंगा।

13 जून को भाजपा-तृणमूल समर्थक छात्रों के बीच मारपीट हुई

13 जून को भी हुगली के आरामबाग कलिकपुर नेताजी महाविद्यालय में भाजपा और तृणमूल समर्थक छात्रों के बीच जमकर मारपीट हुई थी। यह झड़प भी भाजपा समर्थक छात्रों द्वारा जय श्री राम के नारे लगाने के बाद हुई थी। इस घटना में पांच से ज्यादा छात्र जख्मी हुई थे। लोकसभा चुनाव के बाद से ही भाजपा के कार्यकर्ता बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की रैली में जय श्री राम के नारे लगाए हुए उन्हें उकसाते रहे हैं।

HAMARA METRO

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com