बिना हेलमेट बाइक चलाई सिपाही ने, चालान कटा डीजीपी के नाम

निचले स्तर के कर्मियों द्वारा किए गए कार्यों का श्रेय अधिकारियों को मिलने को लेकर कहावत प्रचलित है कि ‘लड़े फौज और नाम होता है सरकार का’। कई बार इसका उल्टा भी हो जाता है, यानि कर्मियों द्वारा की गई गलती का खामियाजा अधिकारियों को उठाना पड़ जाता है। ऐसा ही कुछ यहां बुधवार को हुआ।

सिपाही के बिना हेलमेट पहने मोटरसाइकिल चलाते हुए फोटो सोशल मीडिया में वायरल हो गई। लोगों द्वारा फोटो पर कमेंट किए जाने लगे। आखिर जिला यातायात पुलिस ने फोटो का संज्ञान लेना ही पड़ा। मोटरसाइकिल के रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर पोस्टल चालान करने का निर्णय लिया। अब चूंकि मोटरसाइकिल सरकारी है और डीजीपी हरियाणा के नाम से पंजीकृत है।

मजबूरी में यातायात पुलिस को चालान डीजीपी के नाम काटना पड़ा। 100 रुपये की राशि का यह चालान पुलिस आयुक्त कार्यालय फरीदाबाद के पते पर भेजा गया है। चालान में वाहन मालिक डीजीपी हरियाणा बिल्कुल साफ लिखा है।

इसके साथ ही नीचे निर्देश भी हैं कि यह वाहन आपके नाम से पंजीकृत है। इसके चालक ने बिना हेलमेट वाहन चलाने का अपराध किया है। वाहन के तात्कालिक चालक का नाम व पता बताने को लिखा है। यह भी लिखा है कि अगर आप वाहन स्वयं चला रहे थे तो 15 दिन के अंदर चालान का भुगतान कर दें, नहीं तो अदालत से समन जारी किया जाएगा।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सि‍ंह ने बताया कि वाहन जिसके नाम से पंजीकृत है, उसके नाम ही चालान कटता है। यह मोटरसाइकिल डीजीपी हरियाणा के नाम पंजीकृत है, इसलिए चालान में यह नाम लिखा गया। चालान का भुगतान उस सिपाही को ही करना होगा, जो मोटरसाइकिल चला रहा था। इस संबंध में उसे सूचित भी कर दिया गया है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com