मात्र 69 दिनों में साउथ कोरिया ने किया 1 मिलियन 5G सब्सक्राइबर्स का आंकड़ा पार

 5G नेटवर्क के आने से 4G जल्द खत्म होगा, ऐसा दावा कम से कम साउथ कोरिया में तो सच होता दिखाई दे रहा है। अब हम ऐसा क्यों कह रहे हैं? आपको बता दें, साउथ कोरिया सरकार ने घोषणा की हैं की केवल 69 दिनों में 5G के 1 मिलियन सब्सक्राइबर्स हो गए हैं। यह उससे भी तेज हैं जब देश में 4G नेटवर्क के लिए 2011 में 1 मिलियन का आंकड़ा पार करने में 80 दिनों का समय लगा था।

साउथ कोरिया में आधिकारिक रूप से 3 अप्रैल को व्यावसायिक 5G सेवा का आरम्भ किया गया था। इसके बाद मिनिस्ट्री ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी ने जून 10 को 1 मिलियन सब्सक्राइबर्स पार होने की बात कन्फर्म की। देश में तकरीबन 17000 नए 5G ग्राहक रोजाना जुड़ रहे हैं। ये नम्बर्स देश में सीमित 5G उपलब्धता के बाद के हैं।

यह अनुमान लगाया जा रहा हैं की साल के अंत तक ये नम्बर्स 4 से 5 मिलियन तक हो सकते हैं। खासकर की Samsung Galaxy Fold और Galaxy Note 10 के देश में 5G कैपेबिलिटी के आने के बाद इसकी संभावना अधिक हैं। नई हार्डवेयर रिलीज जैसे की- VR, AR, लाइव स्पोर्ट्स और गेमिंग कंटेंट भी 5G सेवाओं की मार्केटंग और लोगों को आकर्षित करने में अपनी भूमिका अदा कर रही हैं।

क्या है 5जी तकनीक और क्या होंगे इसके फायदे:

  • काफी समय से 5G को लेकर न सिर्फ चर्चाएं हो रही हैं, बल्कि इस ओर तेजी से काम भी जारी है। नेक्स्ट- जनरेशन वायरलेस टेक्नोलॉजी 5G पर ही आधारित होने वाली है। 5G 10 गुना ज्यादा तेज स्पीड देने के साथ-साथ डाटा ट्रांसफर में भी कम समय लेगा।
  • अधिकतर मोबाइल कंपनियां 5G को अपने मोबाइल फोन्स में 2020 तक लाने की प्रक्रिया में है। लेकिन इस टेक्नोलॉजी को लाने में कई अड़चने हैं जैसे कि उच्च स्पेक्ट्रम कीमतें, बारिश-पेड़ों-फॉग से परेशानी, नेटवर्क स्टैण्डर्ड आदि की मुश्किलें।

5जी तकनीक की शुरुआत साल 2010 में हुई। इसे मोबाइल नेटवर्क का पांचवी पीढ़ी कहा जाता है। यह ‘वायरलेस बर्ल्ड वाइड वेब’ (मोबाइल इंटरनेट) को ध्यान में रखकर बनाया गया है। इस तकनीक में बड़े पैमाने पर डेटा का आदान-प्रदान किया जा सकता है। इसमें एचडी क्वालिटी का वीडियो के साथ मल्टीमीडिया न्यूजपेपर प्रसारित की जा सकती है। साथ ही इस तकनीक से वीडियो कॉलिंग के क्षेत्र में क्रांति आ जाएगी। इस तकनीक में अल्ट्रा हाइ डेफिनिशन क्वालिटी की आवाज का प्रसारण किया जा सकता है। इस तकनीक में 1Gbps से अधिक स्पीड से डेटा की आवाजाही हो सकती है। हालांकि अभी तक इसकी अधिकतम स्पीड डिफाइन नहीं की गई है, क्योंकि अभी यह कांसेप्ट के दौर में है और इस पर काम चल रहा है।

इस तकनीक की सबसे बड़ी खूबी रियल टाइम में बड़े से बड़े डेटा का आदान-प्रदान होगा। साथ ही यह तकनीक संवर्धित वास्तविकता (अगर्मेंटेड रियलिटी) के क्षेत्र में नया रास्ता खोलेगी, यानि इसके माध्यम से फोन कॉल पर आप बिल्कुल आमने-सामने बात कर पाने में सक्षम होंगे। विभिन्न साइंस फिक्शन और फंतासी कथाओं में जिस प्रकार व्यक्ति आपके आगे आभासी रूप में उपस्थित हो जाता है और आप उससे आमने-सामने बात करने में सक्षम होते हैं। इस तकनीक से ऐसा करना संभव हो सकेगा। अनुमान के मुताबिक 5जी तकनीक साल 2020 तक धड़ल्ले से प्रयोग में आने लगेगी।