पुलिस महानिदेशक ने प्रशिक्षु पुलिस कर्मियों को पढ़ाया नैतिकता का पाठ, कहा- नशे से बचकर रहें

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक मनोज यादव कार्यभार संभालने के बाद पहली बार पुलिस प्रशिक्षण केंद्र (आरटीसी) भोंडसी का दौरा करने पहुंचे। उन्होंने आरटीसी में प्रशिक्षण ले रहे जवानों को नैतिकता का पाठ पढ़ाया। कहा, जवान नशे व लोलुपता से दूर रहें। पुलिस महानिदेशक के आरटीसी पहुंचने पर सबसे पहले उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

उसके बाद उन्होंने आरटीसी के अधिकारियों के साथ बैठक ली। बैठक में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) के आइजी केके राव के अलावा डीआइजी सतीश बालन, आरटीसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ओपी नरवाल, आइआरबी के कमांडेंट डीके भारद्वाज, पुलिस उपाधीक्षक कुलदीप बेरी, आरटीसी व आइआरबी के सभी उप-अधीक्षक मौजूद थे।

बैठक के बाद ऑडिटोरियम में प्रशिक्षण ले रहे बारह सौ जवानों को संबोधित किया। मनोज यादव ने जवानों को नसीहत दी की इस प्रशिक्षण के दौरान जो कुछ भी सीखेंगे, वही जि‍ंदगी भर काम आएगा। प्रशिक्षण में पूरी लगन व मेहनत से नई-नई तकनीक सीखें। नशे से बचकर रहने वाला व्यक्ति ही स्वस्थ रह सकता है। स्वस्थ शरीर ही जीवन की सबसे बड़ी सफलता है।

आरटीसी भोंडसी में प्रशिक्षुओं को मिलेंगे कूलर
पुलिस महानिदेशक ने प्रशिक्षुओं की बैरक व मेस में एयर कूलर, मेस में आरओ सिस्टम के अतिरिक्त टीग ब्लॉक व बैरकों में तुरंत वाटर कूलर लगाने की मंजूरी दे दी। ट्रेनि‍ंग सेंटर में लगभग 300 कूलर लगाए जाएंगे। पहली बार ट्रेनि‍ंग के दौरान ऐसी सुविधाएं प्रदान की गई हैं । इसके अतिरिक्त ट्रेनि‍ंग सेंटर में प्रशिक्षुओं को लाने ले जाने के लिए बसों व अन्य छोटे वाहनों की आवश्यकता भी थी। पुलिस महानिरीक्षक केके राव के अनुरोध पर पुलिस महानिदेशक ने आरटीसी के लिए वाहनों की मंजूरी भी दी है। जिसमे बसें व छोटे वाहन शामिल हैं।