डाक्यूमेंटरी फिल्म- आओ बसायेस्वर्ग धरती पर का विमोचन

डाक्यूमेंटरी फिल्म आओ बसायेस्वर्ग धरती पर का विमोचन

 

डाक्यूमेंटरी फिल्म- आओ बसायेस्वर्ग धरती पर का विमोचन

लाल बिहारी लाल

नई दिल्ली। एक पिता को उनके जन्मदिवस के शुभ अवसर पर उनकी बेटियों की तरफ सेसँपूर्ण धरती पर स्वर्ग बसाने के तोहफ़े से बेहतर और क्या उपहार हो सकता है।

अनुराधा प्रकाशन के प्रधानसंपादकमनमोहन शर्मा के सँचालन मेंसीता फिल्मज़ के बैनर तले बनी कविता मल्होत्रा की डॉक्यूमेंट्री फिल्म- “हम बसाना चाहते हैं स्वर्ग धरतीपर” का विमोचन बिहार से आए प्रो.एवंबरिष्ठ साहित्यकार श्री सुधीर सिंह जी नेकिया।

उन्होंने कहा’आओ बसाये स्वर्ग धरती पर* एकविचार,एक संकल्प है जिसके लिएश्रीमती कविता मल्होत्रा और सोनाली सिंघल का धन्यवाद किया.—अपने अपनों से प्यार करें,बात सिर्फ इतनी सी है,

आँगन में कूकती कोयल सीबेटियों की खनकती हँसी और शीतल छाया देते घने वृक्षों से बुज़ुर्ग इन दो पीढ़ियोंमें एक बात समान है,दोनों ही पीढ़ियाँ अपने पालनपोषण के लिए युवा वर्ग पर आश्रित हैं जो इन दो पीढ़ियों के बीच की मज़बूत कडी है।लेकिन अगर ये युवा पीढ़ी अपने बच्चों पर तो अपना अधिकार जताए लेकिन बुज़ुर्गों केप्रति अपने दायित्वों को नज़रअँदाज़ करे तो तीनों ही पीढ़ियों के परस्पर सामँजस्यका सँतुलन गड़बड़ा जाएगा।

इसी मुद्दे को दर्शातीडॉक्यूमेंट्री का सीता फिल्मज़ के सौजन्य से किया गया भव्य विमोचन कई दिलों कोसकारात्मकता से धड़कने का सबब दे गया। जिसमें जनकपुरी के निगम पार्षद नरेंद्रचावला जी ने भी यही सँदेश दिया कि हमें पर्यावरण को स्वच्छ रखने के लिए पेड़ लगानेचाहिए और उन्हें काटना नहीं चाहिए।मधुरम एन जी ओ से रितु माधुरी के साथ शिवाश्रयवृद्धाश्रम से आए सभी लोगों ने डॉक्यूमेंट्री – ” हम बसाना चाहते हैं स्वर्गधरती पर’का आनँद लिया। कविता मल्होत्रा की लिखीतीन पीढ़ियों के जेनरेशन गैप को खत्म करती डॉक्यूमेंट्री जीवन जीने की कला के एकसकारात्मक पहलू को दर्शाती है।

इस अवसर पर सीता फिल्मज़ की ओर सेपार्टिसिपेशन के सर्टिफ़िकेट और उनकी परफार्मेंस के लिए सभी कलाकारों को ट्राफियाँप्रदान की गईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com