इस फरमान से बेरोजगारी की कगार पर पहुंचे 7000 भारतीय

इस फरमान से बेरोजगारी की कगार पर पहुंचे 7000 भारतीय

वाशिंगटन : राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ओबामा प्रशासन के एमनेस्टी कार्यक्रम को रद्द कर दिया. इस कार्यक्रम के तहत अवैध तौर पर अमेरिका आये आव्रजकों को रोजगार के लिए वर्क परमिट दिया गया था. इससे 800,000 कामगारों पर असर पड़ेगा जिनके पास सही दस्तावेज नहीं हैं. इसमें 7000 से अधिक अमेरिकी भारतीय शामिल हैं. अमेरिकी अटॉर्नी जनरल जेफ सेशंस ने कहा कि डीएसीए (डिफर्ड एक्शन फॉर चिल्ड्रन अरायवल) नामक कार्यक्रम जो कि ओबामा प्रशासन में प्रभाव में आया था, उसे रद्द किया जाता है.

पिछले कुछ दिनों से इस घोषणा की अपेक्षा भी की जा रही थी. इसके बाद देश भर में इसके खिलाफ प्रदर्शन भी शुरू हो गए. ट्रंप के फैसले के खिलाफ व्हाइट हाउस के बाहर सैकड़ों प्रदर्शनकारी एकत्रित हुए. प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया से बातचीत करते हुए जेफ सेशंस ने कहा कि देश को यह सीमा तय करनी होगी कि हम हर साल कितने प्रवासियों को आने की इजाजत दे सकते हैं.

उन्‍होंने कहा कि हम हर उस कामगर को यहां नहीं आने देंगे जो यहां आने की इच्छा रखता है. उन्होंने कहा कि यह ऐम्नेस्टी कार्यक्रम असंवैधानिक था और हजारों अमेरिकियों की नौकरी छीन रहा था. इसके विरोध में राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप पहले भी बोलते रहे हैं.

गौरतलब है कि पिछले काफी दिनों से ट्रंप प्रशासन की ओर से एमनेस्‍टी कार्यक्रम को बंद करने की घोषणा की उम्‍मीद की जा रही थी. इसके बाद देश भर में इसके खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गये. ट्रंप के फैसले के खिलाफ व्‍हाइट हाउस के बाहर सैकड़ों प्रदर्शनकारी एकत्रित हुए थे. इन प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने तितर-बितर कर दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com