गर्मी में इतना लंबा चुनाव नहीं होना चाहिए : नीतीश

 बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को पटना में वोट डाला। इस दौरान उन्होंने लंबी चुनावी प्रक्रिया पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि इतनी गर्मी में इतना लंबा चुनाव नहीं होना चाहिए। इसे दो से तीन चरणों में फरवरी-मार्च में कराया जाना चाहिए। इस पर सर्वदलीय बैठक बुलाकर चर्चा कराई जाए। इस दौरान उन्होंने भोपाल से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर के गोडसे पर दिए बयान की निंदा करते हुए कहा कि उन्हें पार्टी से निकालने पर विचार किया जाना चाहिए।

गर्मी की वजह से लोगों की भागीदारी कम होती है

नीतीश ने कहा कि अप्रैल-मई में गर्मी होने की वजह से चुनाव प्रक्रिया में लोगों की भागीदारी कम हो जाती है। चुनाव एक चरण का ही बेहतर होता है, लेकिन देश बड़ा है कि इसलिए दो या तीन चरणों में चुनाव कराए जा सकते हैं।

बिहार में सातों चरण में मतदान
बिहार में सात चरणों में मतदान हो रहा है। सातवें चरण में आज आठ सीटों पर वोटिंग जारी है जबकि 32 सीटों पर मतदान हो चुका है। बिहार में सातवें चरण में नालंदा, पटना साहिब, पाटलीपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, काराकाट, जहानाबाद में मतदान हो रहा है। इस चरण में शत्रुघ्न सिन्हा, रविशंकर  प्रसाद, अश्विनी कुमार चौबे, मीरा कुमार, रामकृपाल यादव, आरके सिंह, उपेंद्र कुशवाहा और मीसा भारती समेत कई दिग्गजों के भाग्य का फैसला होना है।