बाबा के भक्तों की हिंसा के बाद दिल्ली में शनिवार को 11 जगहों पर फ्लैग मार्च

रेप के मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी करार दिए जाने के बाद दिल्ली के 10 इलाकों में हिंसा की घटनाएं हुईं। डेरा समर्थकों की हिंसा के बाद शनिवार को माहौल शांतिपूर्ण रहा। पुलिस ने कई इलाकों में फ्लैग मार्च किया। पेट्रोलिंग भी बढ़ा दी गई है। हिंसा के बाद कानून-व्यवस्था को देखते हुए सभी पुलिसकर्मियों की छुट्टियां कैंसिल कर दी गई हैं। उन्हें वर्दी पहनकर गश्त करने को कहा गया है। हरियाणा से सटे दिल्ली के सभी बॉर्डर पर भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। आगजनी के आरोप में दिल्ली पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ्तार किया है।
शुक्रवार को डेरा समर्थकों की हिंसा के बाद शनिवार को दिल्ली-एनसीआर की सभी बस सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। कई ट्रेनों को भी रद्द किया गया है। इसके चलते यात्रियों को काफी दिक्कतों को सामना करना पड़ा। बाहर से आए लोगों को रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर रात गुजारनी पड़ी।

पूर्वी दिल्ली, शाहदरा और उत्तर-पूर्वी दिल्ली समेत राजधानी के 13 में से 11 जिलों में आम लोगों की मौजूदगी में फ्लैग मार्च निकाला गया। दिल्ली पुलिस प्रवक्ता मधुर वर्मा ने बताया कि राजधानी में फिलहाल धारा 144 जारी रहेगी। आगे हालात देखकर इसे जारी रखने या न रखने पर फैसला लिया जाएगा।

दिल्ली पुलिस प्रवक्ता वर्मा ने बताया कि आगजनी के बाद राजधानी के 13 में 11 जिलों में धारा 144 लगा दी गई थी। उसके बाद सभी जिला पुलिस उपायुक्त को 24 घंटे नजर रखने के लिए कहा गया था। राजधानी में हाई अलर्ट भी घोषित किया हुआ था। शुक्रवार रात और शनिवार दिनभर पुलिस अधिकारी सड़कों पर रहे। सभी जिलों से हिंसा की रिपोर्ट लेने के बाद सीसीटीवी फुटेज व अन्य माध्यमों से आरोपियों की पहचान कर उन्हें दबोचने के लिए कहा गया। कुछ उपद्रवियों की पहचान कर उन्हें हिरासत में भी लिया गया। बाकियों की पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं।

इन इलाकों में निकाला फ्लैग मार्च
पुलिस ने शनिवार को कल्याणपुरी, त्रिलोकपुरी, मयूर विहार, न्यू अशोक नगर,आईएसबीटी आनंद विहार,जगतपुरी, कृष्णा नगर, नंद नगरी, वजीराबाद रोड,अशोक नगर, ज्योति नगर, सीमापुरी आदि इलाकों में फ्लैग मार्च निकाला। कल्याणपुरी में फ्लैग मार्च में पूर्वी दिल्ली नगर निगम के उप-महापौर विपिन बिहारी सिंह ने भी हिस्सा लिया। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि बवाल करने वालों से निपटने के लिए उन्हें बल प्रयोग के आदेश मिले हुए हैं। राजधानी में लॉ एंड आर्डर किसी भी हालत में बिगड़ने नहीं दिया जाएगा।

बसों में आगजनी के आरोप में 10 गिरफ्तार
बाबा राम-रहीम को दुष्कर्म के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद शुक्रवार को राजधानी के अलग-अलग हिस्सों में हिंसा हुई थी। उत्तर-पूर्वी जिला पुलिस ने ज्योति नगर इलाके में कई बसों में आग लगाने के मामले में 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है। उनका कहना है कि सभी आरोपियों की गिरफ्तारी सीसीटीवी फुटेज व मोबाइल द्वारा बनाई गई वीडियो के आधार पर हुई है। पुलिस को अन्य आरोपियों की भी तलाश है। पुलिस जांच में सामने आया है कि आरोपियों ने डेरा प्रमुख के खिलाफ फैसला आने पर हिंसक वारदात को अंजाम देने की साजिश पहले ही रच ली थी।

उत्तर-पूर्वी जिला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को हुए बलवे को गंभीरता से लिया गया था। मामले की छानबीन के लिए कई टीमों का गठन कर आरोपियों की तलाश शुरू की गई थी। कुछ लोगों को शुक्रवार को ही हिरासत में लिया गया था। शनिवार को छानबीन के बाद ज्योति नगर इलाके में ही 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने घटना स्थल पर मौजूद लोगों से आरोपियों की पहचान करने में मदद के लिए भी कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com