पालघर जिले के बंटी बबली बने भूषण व आदिति पाटिल

पालघर जिले के बंटी बबली बने भूषण व आदिति पाटिल

 

सन 2005 में रिलीज सुपर हिट फिल्म बंटी बब्ली के किरदार में अदिति व भूषण पाटिल(बंटी बब्ली 2)

बंटी बब्ली के जलसाझी झोलझाल में रश्मि स्टार सिटी के चैयरमैन चंद्रकांत दुबे व सेक्रेटरी नितिन पारीक खा रहे हैं मलाई

बंटी बब्ली अदिति व भूषण पाटिल के नाटकीय झोलझाल में अदालत व पुलिस की फुटबॉल बनी सुनीता यादव 

एक ही घर दो लोगों को बेचकर जेल जाने की तैयारी में आदिति व भूषण पाटिल 

 

हमारा मैट्रो पालघर/मंगेश खरात,

फिल्मी दुनिया के बेताज बादशाह अमिताभ बच्चन के सुपुत्र अभिषेक बच्चन व दमदार अभिनेत्री रानी मुखर्जी फिल्मों के सेट पर बड़े बड़े झोल में ताजमहल तक को बेच दिया पूरी फिल्म में ऐसा लगता है जैसे चोरी डकैती जाल साझी की ट्रेनिंग दी जा रही है ऐसा फ़िल्म में दिखाया गया हालांकि फिल्मकार व इंस्क्रिप्ट के माध्यम से फ़िल्म दिखा कर समाज में हो रही जालसाज चीटिंग से बचने के लिए प्रैक्टिकल स्टोरी दिखाई जाती है ताकि लोग जालसाजों से ना फसे उनसे बचने का प्रयास करें जबकि नालासोपारा में तो चमत्कार ही हो गया,ताजा घटनाक्रम में नालासोपारा के भूषण पाटिल व अदिति पाटिल ने बंटी बब्ली फ़िल्म बड़ी बारीकी से देखी,बंटी बब्ली के फ़िल्म के पात्रों का अनुसरण करते हुए एक फ्लैट दो लोगो को बेच कर स्थानीय पुलिस व क्षेत्रीय अदालत को भी परेशान कर रखा है।बात यही तक रुकती तो ठीक था लेकिन रश्मि स्टार सिटी सोसायटी के चैयरमैन चंद्रकांत दुबे व सोसायटी के सेक्रेटरी नितिन पारीख दलाली कमाने के चक्कर मे अदिति पाटिल व भूषण पाटिल को सुपर बंटी बब्ली बना दिया ऐसा सोसायटी के कुछ लोगो का कहना है। नाम ना छापने के शर्त पर रश्मि स्टार सिटी के कुछ रहिवासियों ने बताया कि बंटी बब्ली की लूट के अपराध में सोसाइटी के चैयरमैन व सेक्रेटरी का भी चोली दामन का साथ है इस हैरतअंगेज कहानी में स्थानीय पुलिस भी किंकर्तव्यविमूढ़ हो गई है फिलहाल मामले को गम्भीरता से लेते हुए बंटी बब्ली एवम यादव परिवार को भी फ्लैट से बाहर निकाल कर ताला जड़ कर शान्ति व्यवस्था बहाल कर मामले की कार्यवाही में जुट गई है ।

प्राप्त खबर के अनुसार पालघर जिल्हा नालासोपारा तुलिंज पुलिस ठाणे अंतर्गत एक मामला सामने आया है जिसमे फर्यादि सुनीता यादव ने एक फ्लैट का बिकत सौदा आदिति भूषण पाटिल एवं भूषण पाटिल से 20 लाख 50 हजार में किया था जब कि बिना किसी नोटिस व अल्टीमेटम के बिना ही अदिति  व भूषण पाटिल ने किसी तीसरे व्यक्ति अजय रमापति मिश्रा व संयोगिता अजय मिश्रा को रजिस्ट्रेशन कर बेच दिया जबकि उपरोक्त फ्लैट का सौदा(खरीदी बिक्री) दिसंबर 2017 में सुनीता राजकुमार यादव के नाम पर श्री भूषण पाटिल व आदिति भूषण पाटिल से बीस लाख पचास हजार में खरीदा था जिसमे सात लाख रुपए घर मालिक को दे दिया था एवम बाकी का पैसा तेरह लाख पचास हजार फ्लैट की रजिस्ट्री होने के बाद बैंक लोन करके देने की बात तय हुयी थी जो कि साक्षीदार सुरजीत सरोज के समक्ष लिखित रूप से एमओयू बनाया गया था। तुलिंज पोलिस ठाणे से प्राप्त जानकारी अनुसार सुनीता यादव परिवार द्वारा उक्त फ्लैट में कलर का काम करवा रहे थे इसी बीच अदिति व भूषण पाटिल के गुंडों ने उन पर चोपर,गैस पाईप व लोखड़ के रोड से हमला कर दिया।

उक्त मामले में अदिति भूषण पाटिल,भूषण पाटिल,एडवोकेट दीपाली परब,रश्मि स्टारसिटी सोसायटी के चेयरमैन चंद्रकांत दुबे, सेक्रेटरी नितिन पारीक व अजय रमापति मिश्रा आरोपी बनाए गए हैं । फिलहाल सभी पर भारतीय दण्ड संहिता की धारा 141,143,145,149,323,324,504,506 के तहत मामला दर्ज कर आगे की कार्यवाही में जुट गयी है।