महान खिलाड़ी गौरव शर्मा को लंदन की पार्लियामेंट में मिला महात्मा गांधी लीडरशिप अवार्ड।

महान खिलाड़ी गौरव शर्मा को लंदन की पार्लियामेंट में मिला महात्मा गांधी लीडरशिप अवार्ड।

पॉवर लिफ्टिंग में विश्व चैंपियन गौरव शर्मा उभरते हुए खिलाड़ियों के लिए बन गए हैं, एक मिसाल
पॉवर लिफ्टिंग में विश्व चैंपियन गौरव शर्मा को दुनिया भर में बहुत से पुरुस्कारों और अवार्ड्स से नवाजा गया है लेकिन हाल ही में लंदन में मिला उंन्हे महात्मा गांधी लीडरशिप अवार्ड उनके लिए बेहद खास रहा है, क्योंकि वह मानते है कि इस अवार्ड से हमारे देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी का नाम जुड़ा है।
वीरेंद्र शर्मा एमपी के हाथों गौरव शर्मा को यह अवार्ड दिया गया। वीरेंद्र शर्मा एमपी हाउस ऑफ कॉमन्स लंदन के लेबर मेम्बर ऑफ पार्लियामेंट हैं। एन आर आई वेल्फेयर सोसायटी ऑफ इंडिया (यूके चैप्टर) के जेनरल सेक्रेटरी गुरिंदर सिंह हैं, जिन्होंने गौरव को इस गौरव से नवाजा। गौरव शर्मा को महात्मा गांधी लीडरशिप अवार्ड से 25 अक्तूबर 2018 को उनके योगदान हेतु नवाजा गया जो उनके लिए एक बड़ा सम्मान है। गौरव शर्मा को इस अवसर पर एक गोल्ड मेडल और एक सर्टिफिकेट मिला है।
आपको बता दें कि हाल ही में यूरोपियन चैंपियनशिप में दो गोल्ड मेडल हासिल कर चुके गौरव शर्मा ने अमिताभ बच्चन से भी मुलाकात की । कौन बनेगा करोड़पति के सेट पर बिग बी से मिलने के बाद गौरव शर्मा का कहना था कि अमिताभ बच्चन ने उन्हें गोल्ड मैडल जीतने पर मुबारकबाद दी और ओलंपियाड के लिए अग्रिम शुभकामना भी दी ।
गौरव शर्मा अमिताभ बच्चन के साथ अपनी मीटिंग को एक यादगार लम्हा मानते हैं बच्चन साहेब एक महान कलाकार होने के साथ साथ एक बेहतरीन इंसान और खेल के प्रति गहरी रुचि रखने वाले इंसान हैं। उनके दिल मे खिलाड़ियों के लिए भी बेहद प्यार है।
उन्होंने गौरव से पावर लिफ्टिंग के सम्बंध में बहुत सी जानकारी प्राप्त की और हेल्थ टिप्स को लेकर भी डिस्कशन किया। गौरव शर्मा ने बिग बी से अपनी इस मुलाकात के लिए भूपेंद्र सर का भी शुक्रिया अदा किया ।
उल्लेखनीय है कि गौरव शर्मा खिलाड़ी होने के साथ साथ दिल्ली के चांदनी चौक स्थित मंदिर के महंत भी हैं । 2007 में न्यूजीलैंड में हुए कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप मुकाबले में उन्होंने चार गोल्ड मैडल और इंग्लैंड में हुए वर्ल्ड चैंपियनशिप में उन्होंने दो गोल्ड मैडल जीत कर देश का नाम रौशन किया था।
अब एक बार फिर लंदन में इस तरह का सम्मान पाकर उन्होंने न केवल अपना बल्कि देश का नाम भी सारी दुनिया मे रौशन कर दिया है। हम भविष्य में भी गौरव से यही आशा रखते है कि वह अपने कारनामो से देश को गौरवान्वित करते रहेंगे साथ ही नए खिलाड़ियों के लिए एक प्रेरणा और एक मिसाल बनते रहेंगे।