लाखों करोडो निर्माण कार्यो मे खर्च पर वास्तविक जरूरत मंदो को भूले

साहू परिवार की यह लाडली 14 साल की उम्र में चला रही परिवार
लाखों करोडो निर्माण कार्यो मे खर्च पर वास्तविक जरूरत मंदो को भूले
*नौंवी कक्षा में पढने वाली चला रही घर परिवार
ग्राम पंचायत बरमान कलां में एक  ऐसा परिवार जो तरस रहा है कि, कोई तो उन्हें शासन की योजनाओं का लाभ दिला सके, उस परिवार में हैं कुल पांच लोग और कमाने वाली केवल एक 14 साल की मासूम बालिका श्वेता साहू, जो स्वयं सिलाई मशीन चलाकर, परिवार का पेट पाल रही है, श्वेता ने बताया कि, मेरे पिताजी को एक ऐसी बीमारी है, जिसकी वजह से वे कोई काम नहीं सकते, श्वेता ने मंत्री कलेक्टर   सभी जगह लिखित आवेदन दिया है, कि किसी योजना के तहत उसके परिवार को जीविकोपार्जन के लिये आर्थिक मदद मिल जाये पर आज दिनांक तक किसी भी प्रकार की मदद शासन प्रशासन से नहीं मिली है,
*इस परिवार में पिता वीरेन्द्र सिह साहू 38 साल पत्नी नीमा बाई, 34, श्वेता साहू 14 साल(जोकि परिवार पाल रही है) , एकता साहू 10, वेदिका साहू 8 साल,*
ये कैसी शासन की योजनायें जहां करोडो अरबों खर्च कर निर्माण कार्य हो रहे हैं पर, एक गरीब परिवार को मदद करने कुछ भी नहीं है,
राज्यमंत्री को कलेक्टर को जिम्मेदार अधिकारियों को आखिर क्या हुआ, जो इस बेबस परिवार की सुध नहीं ली, तिल तिल मरने को मौताद ये परिवार .
दो बार राज्यमंत्री जालम सिंह पटेल को मिलकर निवेदन कर चुकी है 14 साल की श्वेता , पर आखिर क्या वजह है जिसके कारण नेता व अधिकारी इस बेबस परिवार की कोई मदद नहीं कर पा रहा है, देखना है कि, कब तक, इस परिवार के लिये कोई मसीहा बनकर आता है.