फेम इंडिया और एशिया पोस्ट ने श्रेष्ठ सांसदों का चयन करने के लिए 25 केटेगरी बनाई

फेम इंडिया और एशिया पोस्ट ने श्रेष्ठ सांसदों का चयन करने के लिए 25 केटेगरी बनाई
शहज़ाद अहमद – नई दिल्ली 
फेम इंडिया श्रेष्ठ सांसद अवार्ड 2018 का आयोजन विज्ञान भवन नईदिल्ली में किया गया। इस खास कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे केंद्रीय विज्ञान मंत्री डॉ हर्षवर्द्धन ने कहा कि सांसद लगातार कार्य करते रहते हैं लेकिन यह देश का पहला अवार्ड होगा जो सार्वजनिक रूप से सांसद को दिया जा रहा है। फेम इंडिया ने सकारात्मक पत्रकारिता के लिए आगे आया है वह काफी बेहतरीन कार्य है। हर्षवर्द्धन ने कहा कि आज इस तरह की अवार्ड की खास जरूरत है। केंद्रीय संसदीय राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल ने कहा कि सांसद को चार तरह की परीक्षा होती है जिसमें अगर वे सफल होते हैं तो वे सर्वश्रेष्ठ होते हैं। फेम इंडिया ने बेहतरीन कार्य किया है। केंद्रीय कोयला खान मंत्री हरि भाई चौधरी ने कहा कि सांसदों के पास ज्यादा जिम्मेवारी होती है वे उसपर खरे उतरते है तो वे सर्वश्रेष्ठ होते हैं। फेम इंडिया सर्वश्रेष्ठ अवार्ड को संबोधित करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि राजनीति अल्पकालिन होती है लेकिन धर्म दीर्घकालीन राजनीति है। जिसको समझने की जरूरत है। इस खास आयोजन में 25 सर्वश्रेष्ठ सांसद को अवार्ड दिया गया। फेम इंडिया श्रेष्ठ सांसद अवार्ड के बारे में बताते हुए फेम इंडिया के प्रधान संपादक उमाशंकर सोंथालिया ने कहा कि हमने सर्वे में उन रत्न को ढूंढ निकाला है जो संसदीय परंपरा का भली भांति निर्वहन करने को प्रयासरत हैं, सर्वे में हमने 25 ऐसे सांसदों को चुना है जो अपनी अपनी श्रेणी में श्रेष्ठ होने की प्रतिभा रखते हैं। इन्होंने परंपरा का निर्वहन करते हुए अपने क्षेत्र के कल्याण और क्षेत्रवासियों के साथ संपर्क में सामंजस्य बनाए रखा है। सोंथालिया ने बताया कि प्रसिद्ध सर्वे एजेंसी एशिया पोस्ट और फेम इंडिया के द्वारा किया गया है। जो पहले भी ऐसे सर्वे कर अपनी श्रेष्ठता कायम की है। एशिया पोस्ट के चीफ एडिटर राजीव मिश्रा ने कहा कि सर्वे में आठ प्रमुख बिंदुओं पर कार्य किया, जिनमें सदन में उपस्थिति और बहस में भागीदारी, जनता के हित में प्रश्न उठाने, लोकतंत्र की मजबूती के लिए निजी विधेयक लाने, क्षेत्र की जनता के लिए सुलभता व मददगार, लोकप्रियता और छवि को प्रमुख माना गया है। इस सर्वे में भारत सरकार के किसी भी मंत्री को शामिल नहीं किया गया है।
प्रभावशाली सांसद की केटेगरी में गुजरात के भाजपा सांसद डॉ. किरीट भाई सोलंकी ने अपना स्थान बनाया। बेजोड़ सांसद की केटेगरी में टॉप पर बिहार के मधेपुरा के सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव रहे। सक्रिय सांसद की केटेगरी में निशिकांत दुबे ने जगह बनाई जो झारखंड के गोड्डा से चुनाव जीते हैं। सरोकार केटेगरी में  दिल्ली के सांसद उदित राज, लगन केटेगरी में उत्तर प्रदेश से बांदा के सांसद भैरो प्रसाद मिश्रा और इरादे केटेगरी में रोडमल नागर ने टॉप किया। हौसला केटेगरी की बात करें, तो हरियाणा के युवा सांसद दीपेन्द्र सिंह हुड्डा ने पहला स्थान पाया। विरासत केटेगरी में दुष्यंत चौटाला ने टॉप किया। मजबूत सांसद की केटेगरी में केरल के सांसद एनके प्रेमचंद्रन को पहला स्थान मिला। लोकप्रिय केटेगरी में ओम बिड़ला सबसे आगे रहे, कर्मयोद्धा केटेगरी में राजस्थान के सांसद चंद्रप्रकाश जोशी ने सबसे अधिक नंबर हासिल जागरूक केटेगरी में उत्तर प्रदेश के सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल पहले पायदान पर पहुंचे। जज्बा केटेगरी में शिवसेना के सांसद अरविन्द सावंत ने टॉप किया। प्रयत्नशील केटेगरी में ओड़िसा के सांसद रविन्द्र कुमार जेना को सबसे अधिक अंक मिले।
शख्सियत केटेगरी में उत्तर प्रदेश के वीरेंदर सिंह मस्त को पहला स्थान प्राप्त हुआ। उत्तराधिकार केटेगरी में नार्थ-ईस्ट के सांसद गौरव गोगोई टॉप पर रहे. उम्मीद केटेगरी में उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर के सांसद शरद त्रिपाठी पहले स्थान पर पहुंचे। असरदार सांसद की केटेगरी में भाजपा के सांसद सुधीर गुप्ता को पहला स्थान हासिल हुआ. शानदार सांसद में ओड़िसा के कलिकेश सिंहदेव सबसे आगे आये। जननायक केटेगरी में तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगात राय की धमक बनी। संघर्षशील केटेगरी में शिरोमणि अकाली दल के प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने सबों को पीछे छोड़ा. इसी तरीके से कर्मठ सांसद की केटेगरी में हरियाणा के रमेश चंद्र कौशिक ने टॉप किया। इन सांसदों को सम्मानित किया गया।