फिल्म पद्मावती: MP में प्रतिबंधित करने चलाया हस्ताक्षर अभियान

फिल्म पद्मावती:  MP में प्रतिबंधित करने चलाया हस्ताक्षर अभियान

भोपाल। विवादों में घिरी फिल्म पद्मावती 1 दिसंबर को रिलीज नहीं होगी। फिल्म निर्माताओं ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि रिलीज की नई तारीख जल्द घोषित की जाएगी। फिल्म पद्मावती को लेकर दाखिल याचिका पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा। सुनवाई से पहले फिल्म के विरोध में उतरे कई सामाजिक संगठनों ने संजयलीला भंसाली के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। वहीं, संस्कृति बचाओ मंच के सदस्यों ने फिल्म को मप्र में प्रतिंबधित करने के लिए हस्ताक्षर अभियान चलाया है।
दीपिका को मिल चुकी है धमकी..
मंच के सदस्य चंद्रशेखर तिवारी ने कहा कि, फिल्म मेकर संजय लीला भंसाली ने इतिहास के साथ छेड़छाड़ की है। फिल्म में पद्मावती के किरदार को तोड़मरोड़ के पेश किया गया है, जिससे हमारी धार्मिक भावनाएं आहत हुई है। गौरतलब है कि फिल्म पद्मावती का देश के कई राज्यों विरोध हो रहा है। कुछ सामाजिक संगठनों ने तो यहां तक धमकी दी है कि अगर फिल्म रिलीज हुई, तो वे दीपिका पादुकोण की नाक काट देंगे। हालांकि, इस धमकी के बाद दीपिका की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

सांसद ने कहा था कि…
भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राज्यसभा सांसद प्रभात झा ने फिल्म पद्मावती के विरोध को जायज ठहराते हुए कहा था कि चैनलों पर दिखाई गई फिल्म के कई हिस्से आपत्तिजनक हैं। पद्मावती सिर्फ राजपूतों की ही नहीं, पूरे समाज के लिए प्रेरणास्रोत रही हैं। 16 हजार महिलाओं के साथ जौहर लेने वाली पद्मावती भारत की आदर्श और अस्मिता की प्रतीक हैं। फिल्म तो लोगों को सुकून पहुंचाने के लिए होती है, समाज की भावनाओं को आहत करने के लिए नहीं। झा ने आगे कहा था कि, यदि इस फिल्म से समाज आहत हुआ है तो फिल्म मेकर संजय लीला भंसाली को फिल्म पर पुनर्विचार करना चाहिए।

सिनेमाघरों को दी जा चुकी है धमकी
– राजपूत समाज के लोगों ने तो सिनेमाघर में लगे फिल्म पद्मावती के पोस्टर तक हटा दीजिए यहां तक कि राजपूत समाज ने सिनेमाघरों के संचालकों को चेतावनी दी है कि यदि वे फिल्म को रिलीज करते हैं तो किसी भी अप्रिय घटना की जिम्मेदारी उनकी स्वयं की होगी क्योंकि समाज किसी भी प्रकार से किसी की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं होने देगा सिर्फ मनोरंजन के लिए और चंद पैसे कमाने के लिए यदि किसी समाज के इतिहास के साथ खिलवाड़ किया जाता है तो भारत में रहने वाला कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं होने देगा। इस सद्बुद्धि यज्ञ से संजय लीला भंसाली को सद्बुद्धि आती है या नहीं यह तो आने वाला समय ही तय करेगा।

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com