मुंगावली और कोलारस को लेकर विधायकों को अल्टीमेटम

मुंगावली और कोलारस को लेकर विधायकों को अल्टीमेटम

 

भोपाल। चित्रकूट चुनाव में मिली हार के बाद शिवराज सरकार एक्शन में है. कल शुक्रवार को हुई विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधायकों को अल्टीमेटम दिया है कि वे अपनी परफॉर्मेंस सुधार ले. चित्रकूट के बाद भाजपा वाले मुंगावली-कोलारस उपुचनाव में कोई चूक नहीं करना चाहती इसलिए सीएम चौहान ने 35 विधायकों की टीम तैयार की है. बैठक में 2018 चुनाव को लेकर भी मंथन किया गया.
मध्यप्रदेश के चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी को कांग्रेस के सामने करारी हार झेलना पड़ा. इस हार से शिवराज सरकार को प्रदेशभर में आलोचनाओं का सामना करना पड़ा. सीएम चौहान ने चित्रकूट हार से सबक लेते हुए अपने विधायकों का रिपोर्ट कार्ड तैयार किया. कल सीएम हॉउस में आयोजित हुई बीजेपी विधायक दल की बैठक में शिवराज अपने विधायकों की परफॉर्मेंस से नाखुश नजर आए. सीएम ने कहा कि मैं चाहता हूं कि 2018 के चुनाव के बाद भी हम साथ बैठें, इसके लिए जरूरी है कि कुछ लोग अपनी परफॉर्मेंस सुधार लें. इस दौरान भावांतर पर भी चर्चा हुई. सूत्रों के मुताबिक सीएम ने कहा कि मैंने रिस्क ली है. किसानों के भले के लिए हजारों करोड़ चले जाएं कोई दिक्कत नहीं है.

बैठक में सबसे पहले मुख्यमंत्री मानहानि मामले में आए फैसले पर सभी ने मुख्यमंत्री को बधाई दी. बैठक को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने भी संबोधित किया. बैठक में सभी विधायकों को भावांतर के साथ ही रेत नीति, पोषाहार नीति, भूमिहीनों पट्टे देने के फैसले को लोगों तक पहुंचाने का जिम्मा दिया. विधायकों को दो टारगेट दिए गए हैं जिसमें भूमिहीनों को पट्टे के साथ ही केंद्र सरकार की सौभाग्य योजना के लिए हितग्राही चुनकर लाभ दिलाना है.
मुंगावली-कोलारस में लगाई 35 विधायकों की टीम-
चित्रकूट में भाजपा को मिली करारी हार के बाद पार्टी आने वाले दो उपुचनाव में कोई चूक नहीं छोडऩा चाहती. चार-चार मंत्री और एक-एक संगठन पदाधिकारी की ड्यूटी भाजपा पहले ही लगा चुकी है. विधायक दल की बैठक में 35 विधायकों को भी इन विधानसभा क्षेत्रों में काम करने का फरमान सुनाया है. इनमें ग्वालियर-चंबल के साथ ही मालवा, बुंदेलखंड और भोपाल संभाग के भी कुछ भाजपा विधायक शामिल हैं.

पद्मावती पर संग्राम-
बैठक में फिल्म पद्मावती प्रतिबंध का मामला भी उठा. सुमावली के विधायक सत्यपाल सिंह सिकरवार ने कहा कि फिल्म का मप्र में प्रदर्शन नहीं होना चाहिए. सिरमौर के विधायक दिव्यराज सिंह ने भी समर्थन किया. इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि 20 नवंबर को उन्होंने क्षत्रीय समाज के प्रतिनिधियों को चर्चा के लिए बुलाया है. उस दौरान कुछ विधायक भी मौजूद रह सकते हैं.

बैठक से पहले विधायकों को नसीहत-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधायक दल की बैठक के पहले 20 विधायकों के साथ चर्चा की. इसमें इंदौर, बैतूल, बड़वानी व खरगौन जिले के भाजपा विधायक शामिल थे. सीएम के पास हर विधायक की परफॉर्मेंस रिपोर्ट थी. सीएम ने विधायकों द्वारा कराए गए काम-का ब्योरा लिया. कुछ विधायकों की क्षेत्र में खराब छवि और कार्यकर्ताओं के साथ तालमेल ना बैठने पर सीएम ने नाराजगी जाहिर करते हुए परफॉर्मेंस सुधारने की नसीहत दी है.

 

 

Source:Agency

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com