नगर निगम ने ठाना है शहर को स्वच्छ बनाना है

रिपोर्ट विकास कौशिक  :  स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के तहत नगर निगम ने स्वच्छता के प्रति प्रयागराज को स्वच्छता के प्रति शहर, मोहल्ले, गली, नाली साफ स्वच्छ बनी रहे ईसके लिये सभी अधिकारी गण अपनी पैनी नजर रखेगे कोशिश यही होगी की जादा से जादा लोग जागरूक हो और नगर निगम के सफाईकर्मी अपने कार्य के प्रति सजग हो शहर के नागरिक गणों को अगर कही कोई कुडा करकट नजर आता है तो वे सुचना अपने वार्ड के जोनल अधिकारी को दे जिसका निस्तारण होगा जो सफाई कर्मचारी अपने कार्य के प्रति सजग नहीं लगते आप उनकी सिकायत वार्ड मे दर्ज करा सकते है उनपर तुरन्त कार्यवाही होगी अपने शहर को स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिये नगर निगम के सामाजिक कार्यकर्ता स्वच्छता ब्रांड एम्बेसडर दुकानजी मोहल्ले गलियों में जा जा कर अपने स्वच्छता परिधान पहनकर लोगों से अपील कर रहे हैं कि अपने प्रयागराज को स्वच्छता के प्रति नम्बर वन बनाने के लिये लोग अपना सहयोग दें अपनें अपने गली मोहल्ले को साफ स्वच्छ बनायें रखें नगर निगम द्वारा जहाँ कुडा दान रखा है उसमे सुबह डाल दे सफाई कर्मचारी के कुडा उठाने से पहले जिससे आपकी गली मोहल्ला साफ़ स्वच्छ बना रहे और आप अपने घर मे दो डस्टबिन रखे एक मे गीला कचरा जैसे रसोई के कचरा सब्जी फलों के छिलके सब्जियों के छिलके ऐव खाना यह सभी चीजे गीला कूड़ा मे आता है इसे हरे बीन मे डाले – सूखा कुडा मे जैसे रद्दी कपडे, पेपर, लोहा, लकडी, खिलौने ये नीले डस्टबिन में डाले, सुबह नगर निगम की गाड़ी जिसमे हरा नीला डस्टबिन लिखा होता है आप उसमें डाल दे ऐसे सफाई कर्मचारी भी आपसे मांग लेंगे आपको बाहर फेंकने की आवश्यकता ही नहीं पढ़ेगी आपसे लिए गये कचरे को रीसाइक्लिंग करके खाद बनाई जाती है जो आपके पेड के गमले के काम आति है – जैसे आजकल शहर का युवा आकाश मन्दिरों से फेके गए माला फूल उसे छटा कर सुखाकर उसके अगरबत्ती, धूप, वहन सामग्री बना रहा है जो लोगों को पसन्द आ रहा आजकल जो हमारे नाली शिवर लाइन जो जाम होकर आसपास गन्दगी फैलती है उसका कारण पालिथिन ,थर्माकोल अभी प्रतिबन्ध होने के बावजूद जो हम लोगों के अगर होता है उसे ईधर उधर फेंक देते है वही नाली को जाम करती है जो बदबू आती है वे नयें नये बिमारियों को जन्म देती है आप पालिथिन का इस्तेमाल न करे न दूसरे को करनें दे घर मे पुराने कपडे के झोले बना ले उसमे सामान लाये प्लास्टिक के कप गिलास थाली, थर्माकोल के कप ग्लास थाली के जगह कागज के कप ग्लास पत्तल की थाली कटोरी का प्रयोग करे और दूसरे को करने के लिये कहे पालिथिन अपने शहर लिए एक नासूर है जिससे हमारे पर्यावरण को नुकसान,हमारे स्वास्थ्य को और हमारे धरती ,खेत को बंजर बनाने मे कोई कसर नहीं छोड़ती संकल्प ले न पालिथिन न थर्माकोल को अपनायेगे न दूसरे को वही दुकानजी नगर निगम के अभियान केसाथ शहर के लोगोंके के साथ मिलकर अपने शहर को नम्बर वन पर लाने के लिए घूम घूम कर जागरूक कर रहे है जिसमें पूरा सहयोग पर्यावरण अधिकारी श्री उत्तम कुमार वर्मा, जोनल अधिकारी, एम आई एस एक्सपर्ट राहुल तिवारी, सुनिल गुप्ता, संदीप यादव, और हर वार्डो के सभासद,और नागरिकों का