आखिर क्यों बढ़ गया यमुना नदी का जल स्तर जब छोड़ा गया हथिनी कुंड से पानी

हरियाणा के हथनीकुंड बैराज (Hathni Kund barrage) से एक लाख 43 हजार(1,43,000) क्यूसेक (cusecs) पानी छोड़ने के बाद दिल्ली में यमुना नदी के पानी का जलस्तर बढ़ गया है। जलस्तर बढ़ने से यमुना के किनारे खेत पानी में डूब गए हैं।
हथनीकुंड बैराज से पानी छोड़ने के बाद यमुना नदी के आस-पास इलाकों में पानी भर गया है। हालांकि अभी तक यह जानकारी नहीं मिल पायी है कि जलस्तर चेतावनी के निशान (204.00 सेमी) को पार कर गया है या नहीं।

दरअसल हर साल हरियाणा के हथनीकुंड बैराज से हर साल पानी छोड़ा जाता है। इसकी वजह से हर बार यमुना नदी का जलस्तर बढ़ जाता है।

यमुना का जलस्तर बढ़ने से निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगता है। इसकी वजह से यमुना के तट पर बसे लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ता है।
फिलहाल यमुना का जलस्तर बढ़ने से प्रशासन सतर्क हो गया है। माना जा रहा है कि अगर हथनीकुंड बैराज से और पानी छोड़ा गया तो लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।