नाले की जमीन पर अवैध कब्जा करने का आरोप: आजम खान

जौहर यूनिवर्सिटी के लिए किसानों की जमीनें हड़पने के मामले में सपा सांसद आजम खान पर 27 केस दर्ज हैं। अब जिला प्रशासन ने सपा सांसद के बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम खान पर शिंकजा कसना शुरू कर दिया है। अब्दुल्ला पर नाले की जमीन पर अवैध कब्जा करने का आरोप है। इस मामले में नहर खंड विभाग की ओर नोटिस जारी किया था। लेकिन जवाब न मिलने पर शुक्रवार को सिंचाई विभाग ने रिसॉर्ट हमसफर की एक बाउंड्रीवाल को बुल्डोजर से गिरा दिया गया।
ग्रामीण ने की थी शिकायत

सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता नवीन कुमार ने बताया कि पसियापुर शुमाली गांव के सहादत खान ने एक शिकायत की थी के सिंचाई विभाग की किसी जमीन पर अतिक्रमण है। हमने अपने स्टाफ से उस जगह का मौका मुआयना कराया। उस जगह की नापतौल करायी गई।

जांच में अवैध कब्जे की हुई पुष्टि

जांच में यह तथ्य सामने आया कि वहां पर एक बड़कुसिया नाले का निर्माण कराया गया था। जिसका गाटा संख्या 129 की 1000 वर्ग मीटर जमीन को हमसफर रिसोर्ट की चारदीवारी में डाल लिया गया। कैनाल एक्ट की धारा के 70 के अंतर्गत नोटिस जारी कर नहर खंड की भूमि कब्जा मुक्त करने को कहा गया। रिजॉर्ट ने नहर विभाग की भूमि पर कब्जा नहीं छोड़ा तो प्रशासन को रिजॉर्ट्स की दीवार तोड़ दी है।

यूनिवर्सिटी के लिए हड़पी पांच हजार हेक्टेअर जमीन
जौहर यूनिवर्सिटी के नाम पर आजम खान और उनके सहयोगी आले हसन पर 26 किसानों की पांच हजार हेक्टेयर जमीन हड़पने का आरोप है। इस मामले में उनके खिलाफ कई केस दर्ज हो चुके हैं। आरोप है कि आजम खान और उनके करीबी हसन ने किसानों से जमीन हड़प ली और इसका उपयोग करोड़ों की मेगा परियोजना मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के निर्माण में किया।