खूब जमा रंग जमा जब मिल बैठे मन vs वाइल्ड और PM मोदी

कभी पतंग उड़ाते हुए तो कभी ढोल बजाते, कभी नागा लोगों के साथ उनकी ही पोशाक में नाचते तो कभी जिम कोर्बेट जंगल में बिंदास घूमते हुए पीएम मोदी को लोगों ने जब-जब देखा तो हैरानी और खुशी दोनों ही हुई। हैरानी इसलिए क्‍योंकि उनसे पहले भारतीयों ने अपने किसी पीएम के इतने विविध रूप नहीं देखे थे। इससे पहले के प्रधानमंत्री लोगों को सिर्फ हाथ हिलाते हुए ही दिखाई देते थे। उनका व्‍यवहार वो नहीं था जो मौजूदा प्रधानमंत्री का दिखाई देता है। इतना ही नहीं बीते सात दशकों में पहली बार ऐसा दिखाई दिया कि पाकिस्‍तान को उसकी ही भाषा में जवाब देने वाला पीएम देश को मिला है। यहां पर हम पीएम के उन्‍हीं रूपों की चर्चा करेंगे जिसे देखकर लोग हैरान हुए।
डिस्कवरी चैनल के एडवेंचर शो ‘मैन वर्सेस वाइल्ड’ को भारत समेत 180 देशों में प्रसारित किया गया। देश में इस शो को देखने के लिए लोगों में उत्सुकता दिखी। पूरे शो के दौरान लोग टीवी के सामने डटे रहे। इस दौरान पीएम मोदी ने बेयर ग्रिल्स के साथ स्‍‍‍‍‍‍क्रीन शेयर की थी। इस प्रोग्राम में मोदी की ि‍बिल्‍कुल अलग छवि लोगों ने देखी।

पीएम मोदी के विविध रूपों से एक रूप ये भी है। अपने पहले कार्यकाल 2014 के दौरान जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान गए तो वहां पर जो उन्‍होंने किया वो वहां मौजूद सभी लोगों के लिए हैरानी वाला था। टोक्‍यो में जापान टेक्‍नोलॉजी एंड कल्‍चर अकादमी में टाटा कंसलटेंसी सर्विस की शुरुआत करते हुए उन्‍होंने वहां रखे जापान के पारंपरिक वाद्ययंत्र ताइको ड्रम बजाना शुरू कर दिया। वहां मौजूद ताइको ड्रम मास्‍टर के लिए भी यह अनूठा अनुभव था।

पीएम नरेंद्र मोदी को पतंग उड़ाना काफी पसंद है। जब वह गुजरात के सीएम थे तब भी उनकी पतंग उड़ाते हुए तस्‍वीरें वायरल होती थीं। यह शौक उनका अब भी पहले की ही तरह यह शौक बरकरार है। इसका खुलासा उन्‍होंने फरवरी 2016 में बरेली में एक रैली के दौरान भी किया था। बरेली में आयोजित किसान कल्याण रैली में उन्‍होंने कहा था कि वह पतंगबाजी के शौकीन रहे हैं। इस दौरान वे बरेली के मांझे का इस्तेमाल करते थे। बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान के साथ भी उन्‍होंने मकर सक्रांति के दौरान पतेंग उड़ाई है। इससे पहले कभी किसी भारतीय प्रधानमंत्री को पतंग उड़ाते नहीं देखा गया।

नरेंद्र मोदी ने विशाखापट्टनम में जब बतौर पीएम एक बच्‍चे का कान ऐंठते हुए फोटो को ट्वीट किया जो ज्‍यादातर की प्रतिक्रिया थी, कि ऐसा भी कोई पीएम करता है क्‍या। हालांकि इस पल को साझा करते हुए उन्‍होंने लिखा था कि वह बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार के बेटे आरव के साथ हैं। यह विशाखापट्टन में इंटरनेशनल फ्लीट रिव्‍यू का मौका था। पीएम मोदी के इस स्‍वभाव को लोगों ने काफी सराहा क्‍योंकि इसमें गुस्‍सा नहीं बल्कि प्‍यार था।

नरेंद्र मोदी ने विशाखापट्टनम में जब बतौर पीएम एक बच्‍चे का कान ऐंठते हुए फोटो को ट्वीट किया जो ज्‍यादातर की प्रतिक्रिया थी, कि ऐसा भी कोई पीएम करता है क्‍या। हालांकि इस पल को साझा करते हुए उन्‍होंने लिखा था कि वह बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार के बेटे आरव के साथ हैं। यह विशाखापट्टन में इंटरनेशनल फ्लीट रिव्‍यू का मौका था। पीएम मोदी के इस स्‍वभाव को लोगों ने काफी सराहा क्‍योंकि इसमें गुस्‍सा नहीं बल्कि प्‍यार था।

नरेंद्र मोदी ने विशाखापट्टनम में जब बतौर पीएम एक बच्‍चे का कान ऐंठते हुए फोटो को ट्वीट किया जो ज्‍यादातर की प्रतिक्रिया थी, कि ऐसा भी कोई पीएम करता है क्‍या। हालांकि इस पल को साझा करते हुए उन्‍होंने लिखा था कि वह बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार के बेटे आरव के साथ हैं। यह विशाखापट्टन में इंटरनेशनल फ्लीट रिव्‍यू का मौका था। पीएम मोदी के इस स्‍वभाव को लोगों ने काफी सराहा क्‍योंकि इसमें गुस्‍सा नहीं बल्कि प्‍यार था।

हाल ही में पीएम मोदी ने एक फोटो को ट्वीट करते हुए लिखा था ‘खास दोस्‍त के साथ’। शुरुआत में इसको लेकर मीडिया में यही खलबली मची रही कि आखिर यह खास दोस्‍त कौन है। मीडिया की बेचैनी इस बात को लेकर थी कि जिस खास दोस्‍त की बात उन्‍होंने की थी वह एक छोटा बच्‍चा था जो उनकी गोद में अठखेलियां कर रहा था। बाद में इसका खुलासा भी उन्‍होंने ट्वीट के जरिए ही किया। दरअसल, यह बच्‍चा भाजपा सांसद सत्‍यनारायण जटिया की पोती थी, जिसको वह पीएम मोदी से मिलाने लाए थे। पीएम मोदी की इस छवि ने काफी सुर्खियां बटोरी और लोगों ने कहा ‘भई वाह’, ऐसा भी होता है।
पूरे भारत में स्‍वच्‍छता मिशन चलाने वाले मोदी ने जनमानस में यह अलख जगाई कि वह अपने आस-पास की जगह को साफ रखें और कहीं कहीं भी कूड़ा न फैलाएं। बतौर पीएम उन्‍होंने ही पहली बार इसको लेकर आंदोलन करने की बात कही। इससे पहले कभी ऐसा नहीं हुआ था। कभी किसी पीएम ने न तो इस तरह की बात कही थी और न ही सड़क पर उतरकर कूड़ा साफ करने के लिए झाड़ू उठाई थी। पहले कार्यकाल से ही उन्‍होंने इस मुहिम को शुरू किया और एक नहीं कई बार और कई जगहों पर वह सफाई करते हुए दिखाई दिए। इस मुहिम के जरिए उन्‍होंने विरोधियों को भी खूब साधा।