लापरवाही के आरोप में कंपनी संचालक दो भाई गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने झिलमिल की फैक्ट्री में आग लगने के मामले में दो भाइयों को गिरफ्तार किया है। दोनों पर कंपनी में अग्नि सुरक्षा में लापरवाही का आरोप है। जानकारी के अनुसार, फैक्ट्री चौहान बांगर निवासी चार भाइयों नईम, वसीम, अदनान और शानू मिलकर चला  रहे थे।

चार भाइयों में से पुलिस ने किन दो लोगों को गिरफ्तार किया है अभी इसकी जानकारी नहीं मिल पायी है। फिलहाल आरोपितों से

दिल्ली के झिलमिल के पास स्थित फ्रेंड्स कॉलोनी औद्योगिक क्षेत्र में शनिवार सुबह प्लास्टिक के नल (टोटी) बनाने की एक फैक्ट्री में भीषण आग लग गई थी। आग में झुलसकर दो महिलाओं समेत तीन लोगों की मौत हो गई थी। मृतकों की पहचान संगीता (40), मंजू (50) और शुएब (19) के रूप में हुई। 30 दमकल वाहनों को आग पर काबू पाने में करीब आठ घंटे का समय लगा। शाम पांच बजे के बाद कूलिंग का काम शुरू किया गया। जीटीबी एंक्लेव थाना पुलिस लापरवाही से मौत का मामला दर्ज कर जांच कर रही है।

ऐसे लगी थी आग
बताया जा रहा है कि शनिवार सुबह कर्मचारी फैक्ट्री में पहुंचने शुरू हो गए थे। करीब 9:05 बजे अचानक भूतल पर मीटर के पैनल के पास आग लग गई। पास में ही गत्ते और पैकिंग के अन्य सामान थे, इनमें तेजी से आग फैलनी शुरू हो गई। इसके बाद लिफ्ट के पास से होती हुई ऊपरी मंजिलों की ओर धुआं पहुंचने लगा। यह देख जितने कर्मचारी वे बाहर भागने लगे।

कुछ मुख्य द्वार से निकले तो तीसरी मंजिल के कर्मचारी छत पर पहुंच गए और वहां से दूसरी फैक्ट्री पर छत पर चले गए। इस बीच 9:25 बजे सूचना मिलने के बाद पुलिस के अलावा दमकल की गाड़ियां भी मौके पर पहुंच गई। लेकिन करीब 12 कर्मचारी दूसरी मंजिल पर ही फंस गए। 11:00 बजे दमकलकर्मी ऑक्सीजन मॉस्क लगाकर दूसरी मंजिल पर पहुंचे तो वहां दो महिलाएं और एक युवक अचेत अवस्था में मिले। इन तीनों को अन्य कर्मचारियों की मदद से फैक्ट्री से दो सौ मीटर दूर खड़ी एंबुलेंस में पहुंचाया गया। बाद में जीटीबी अस्पताल ले गए, जहां तीनों को मृत घोषित कर दिया गया था।

पूछताछ की जा रही है।