सरकार – कश्मीर में जीरो-टॉलरेंस पॉलिसी सफल, घुसपैठ में 43% तक की कमी आई

केंद्र सरकार ने मंगलवार को लोकसभा में कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जीरो-टॉलरेंस की पॉलिसी कामयाब रही। गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा पिछले साल के मुकाबले 2019 में जम्मू-कश्मीर में बॉर्डर पार से घुसपैठ की घटनाओं में 43% तक की कमी आई है। नित्यानंद ने लिखित सवाल के जवाब में कहा कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद घुसपैठ की घटनाओं में कमी आई।

नित्यानंद ने लोकसभा में कहा, ‘सरकार ने जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ के खिलाफ जीरो-टॉलरेंस की नीति अपनाई और हमारे सुरक्षाबलों ने बेहतरीन काम किया है। इस साल के पहले हाफ में सफलता भी मिला। राज्य की वर्तमान सुरक्षा व्यवस्था इस बात का सबूत है।’

आतंकी संगठनों में स्थानीय युवाओं की भर्ती में भी 40% तक कमी

गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने लोकसभा में कहा, राज्य में आतंकी घटनाओं में 28% की कमी आई है। आतंकी संगठनों में स्थानीय युवाओं की भर्ती में भी 40% तक कमी हुई। जम्मू-कश्मीर में पिछले साल के मुकाबले 22% ज्यादा आतंकियों को मार गिराया है।

‘केंद्र ने राज्य की आतंरिक सुरक्षा को दुरुस्त किया

गृह राज्य मंत्री नित्यानंद ने कहा कि राज्य में पीडीपी के साथ मिलकर सरकार बनाना कांटों भरा था। इसके बावजूद केंद्र ने राज्य सरकार के साथ मिलकर आतंकवाद के खिलाफ अच्छा काम किया। राज्य में आतंकवाद रोकने के लिए आतंरिक सुरक्षा को दुरुस्त किया गया। सरकार ने बॉर्डर फेंसिंग, खुफिया सुधार, सर्च अभियान में सहयोग और सुरक्षाबलों के पास अत्याधुनिक हथियार जैसे कई काम किए।