दिल्ली के रेड लाइट एरिया जीबी रोड पर बने कोठों को बंद करवाने की कोशिशों में जुटी महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का कहना है कि वह कोठों को बंद करवाकर ही रहेंगी चाहे इसके लिए उन्हें जेल क्यों ना जाना पड़े. स्वाति का कहना था की संसद भवन से 3 किलोमीटर की दूरी पर ही यह घिनोना काम सरेआम चल रहा है और सरकार बस तमाशा देखती रहती है. उन्होंने कहा कि DCW ने जीबी रोड पर कई बार छापे मारे हैं, हाल ही में एक लड़की को हमने जीबी रोड की काली दुनिया से आज़ाद भी करवाया है, उसे 6 साल पहले किसी ने यहां बेच दिया था. शिकायत मिलने पर आयोग की टीम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए लड़की को कोठे से बाहर निकाला है.

केंद्रीय मंत्री का भी हाथ!

महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि हमें कई बार नोटिस मिल चुके हैं कि आप ऐसा क्यों कर रही हैं, लेकिन जांच में हमें पता चलता है की इस धंधे में तो एक केंद्रीय मंत्री का भी हाथ है. स्वाति ने कहा जल्द ही सच सबके सामने आएगा, फिर वह चाहे कोई भी हो. स्वाति ने दिल्ली की पूर्व महिला आयोग अध्यक्ष पर हमला करते हुए कहा कि बरखा सिंह 8 साल महिला आयोग अध्यक्ष रहीं लेकिन क्या उन्होंने कभी जीबी रोड़ की लड़कियों की आवाज़ सुनी.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने बताया कि वह तिहाड़ जेल में महिला क़ैदियों के साथ भी वक़्त बिताएंगी . स्वाति तिहाड़ में आयोजित कला उत्सव में विशेष अतिथि के रूप में आमंत्रित थीं. स्वाति ने यहां तिहाड़ जेल के डीजी से आग्रह किया है कि वह और उनकी टीम तिहाड़ जेल में महिला कैदियों के साथ एक सप्ताह तक समय गुज़ारना चाहती हैं और उनकी दिक्कतें जानना चाहती हैं.