तेजप्रताप ने कहा- नीतीश बाबू राजनीति बाद में कर लेंगे, बच्चों को बचा लीजिए

राजद नेता तेजप्रताप ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुजफ्फरपुर में मस्तिष्क ज्वर (एईएस) से मर रहे बच्चों की जान बचाने की गुहार लगाई। तेजप्रताप ने ट्वीट में लिखा है कि सुशासन बाबू, माना कि ये 5-10 वर्ष के मासूम बच्चे किसी दल के वोटर नहीं हैं, लेकिन क्या इन सैकड़ो मासूमों की जान आपके सुशासन की जिम्मेदारी नहीं हैं? उन्होंने कहा कि हम राजनीति बाद में कर लेंगे। अभी मासूमों की जिंदगी ज्यादा जरूरी है। कुछ भी करके मासूमों की जिंदगी बचा लीजिए।

Tej Pratap Yadav

@TejYadav14

सुशासन बाबू, माना कि ये 5-10 वर्ष के मासूम बच्चे किसी दल के वोटर नहीं हैं लेकिन क्या इन सैकड़ो मासूमों की जान आपके सुशासन की जिम्मेदारी नहीं हैं ? नीतीश बाबू हम राजनीति बाद में कर लेंगे अभी इन मासूमों की जिंदगी ज्यादा जरूरी है. कुछ भी कीजिए इन बच्चों को बचा लीजिए…

367 people are talking about this

बच्चों की मौत पर सियासत
बिहार में एईएस से बच्चों की मौत आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। अब तक इस बीमारी 127 बच्चों की मौत हो चुकी है। इनमें ज्यादातर बच्चे मुजफ्फरपुर के हैं। लगातार हो रही बच्चों की मौत के बाद इसको लेकर सियासत शुरू हो गई है। विपक्ष जहां इसके लिए बिहार और केंद्र सरकार को जुबानी हमले कर रहा है वहीं सरकार इस मामले पर चुप्पी साधे हुए है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी रविवार को मुजफ्फरपुर जाकर हालात का जायजा लिया था।

नीतीश के मंत्री ने कहा-इलाज जरूरी है या सीएम का जाना
बिहार सरकार के मंत्री श्याम रजक से जब यह पूछा गया कि क्या मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुजफ्फरपुर जाएंगे, उन्होंने कहा कि सीएम पूरे मामले को मॉनिटर कर रहे हैं। इलाज जरूरी है और सीएम का वहां जाना?

HAMARA METRO