ऋषभ पंत इंग्लैंड रवाना, धवन की जगह वर्ल्ड कप में मिल सकता है मौका

विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत चोटिल सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के विकल्प के तौर इंग्लैंड रवाना हो गए हैं. धवन हालांकि इंग्लैंड में ही रहेंगे और बीसीसीआई की मेडिकल टीम की देखरेख में रहेंगे. बीसीसीआई ने पंत को इंग्लैंड जाने के लिए हरी झंडी दे दी है. पंत  टीम इंडिया से जुड़ने के बाद प्रैक्टिस शुरू कर देंगे.

वर्ल्ड कप के लिए जब टीम चुनी गई थी तब पंत को चयनकर्ताओं ने नजरअंदाज किया था और दिनेश कार्तिक को चुना था. हालांकि 21 साल का यह खिलाड़ी शुरुआती प्लेइंग इलेवन में चयन के लिए उपलब्ध नहीं होगा क्योंकि धवन पर अंतिम फैसला लेने के बाद ही पंत को मौका मिलने की संभावना बनेगी. खबरों के मुताबिक भारतीय टीम मैनेजमेंट धवन की चोट से जुड़ी पूरी रिपोर्ट ICC टेक्निकल टीम को सौंपेगी. इसके बाद रिप्लेसमेंट का अनुरोध किया जाएगा.

ऋषभ पंत बुधवार को ही नॉटिंघम पहुंचेंगे. वह न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच से एक दिन पहले यहां पहुंच रहे हैं, लेकिन जब तक टीम प्रबंधन धवन की बाकी टूर्नामेंट में उपलब्धता को लेकर अंतिम फैसला नहीं करता तब तक पंत को उनके बदले 15 सदस्यीय टीम में शामिल नहीं किया जा सकता है.

इंग्लैंड दौरे पर आए बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ‘टीम प्रबंधन के आग्रह पर ऋषभ पंत को कवर के तौर पर भारत से बुलाया गया है.’ पंत ने पिछले एक साल में प्रभावशाली प्रदर्शन किया. उन्होंने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैचों में शतक भी लगाए. सुनील गावस्कर सहित कई पूर्व खिलाड़ियों ने धवन के फिट नहीं हो पाने पर उनकी जगह पंत को टीम में शामिल करने की वकालत की थी.

ऋषभ पंत ने टीम इंडिया की ओर से अब तक 5 वनडे खेले हैं. इस बार आईपीएल में उन्होंने दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेलते हुए 37.53 की औसत से 488 रन बनाए, जिसमें उनके तीन अर्धशतक शामिल रहे. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 162.66 का रहा.

धवन के अंगूठे में फ्रैक्चर है और इस कारण वह तीन सप्ताह के लिए मैदान से दूर हो सकते हैं. ऐसी आशंका जताई जा रही है कि वह न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के साथ होने वाले दो मैचों में नहीं खेल सकेंगे.

बीसीसीआई ने कहा है, ‘धवन इस समय बीसीसीआई की मेडिकल टीम की देखरेख में हैं. टीम प्रबंधन ने फैसला किया है कि धवन इंग्लैंड में ही रहेंगे और उनकी चोट पर नजर रखी जाएगी. धवन को बाएं

धवन ने रविवार को ऑस्ट्रेलिया के साथ हुए वर्ल्ड कप मुकाबले में शानदार 117 रन बनाए थे और मैन ऑफ द मैच चुने गए थे. भारत ने वह मैच 36 रनों से जीता था.

उसी मैच में बल्लेबाजी के दौरान ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज नाथन कुल्टर नाइल की एक गेंद धवन के अंगूठे पर लग गई थी. अपनी पारी के बाद धवन ड्रेसिंग रूम में ही बैठे रहे और बर्फ से चोट की सिकाई करते रहे. वह फील्डिंग के लिए मैदान पर नहीं उतर सके थे. रवींद्र जडेजा ने धवन की जगह पर फील्डिंग की थी.

पंत को जब टीम में नहीं चुना गया था तब कई लोगों ने इस पर निराशा जताई थी. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने धवन की चोट के बाद पंत को तुरंत टीम में शामिल करने की वकालत की थी.

HAMARA METRO

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com