उत्तर कोरिया – किम ने आरोपी जनरल को पिरान्हा मछली से भरे टैंक में फिंकवाया

  • बताया जाता है कि टैंक में फेंके जाने से पहले आरोपी जनरल का गला और हाथ काटे गए
  • पिरान्हा के नुकीले दांत होते हैं जो मिनटों में मांस को चीड़-फाड़ सकते हैं

प्योंगयांग. उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन ने अपने जनरल को तख्तापलट की साजिश रचने के आरोप में पिरान्हा मछली से भरे टैंक में फेंकवा दिया। जनरल के नाम का खुलासा नहीं किया गया। इससे पहले किम ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ वार्ता विफल होने के बाद अपने अमेरिकी राजदूत को मरवा दिया था।

दावा किया जा रहा है कि टैंक में फेंके जाने से पहले जनरल के हाथ और धड़ काटे गए थे। टैंक खतरनाक पिरान्हा मछलियों से भरा हुआ था। इन्हें ब्राजील से मंगाया गया। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि जनरल मछली के काटने से मरा, टैंक में डूबकर या फेंके जाने के पहले ही मर चुका था। पिरान्हा मछलियों के दांत बेहद नुकिले होते हैं, जो मिनटों में मांस को चीड़-फाड़ देते हैं।

पिरान्हा से भरे टैंक में फिंकवाना जेम्स बॉन्ड फिल्म से प्रेरित

सूत्रों का दावा है कि उत्तर कोरियाई नेता ने 1965 में आई जेम्स बॉन्ड की फिल्म यू ओनली लिव ट्वाइस से प्रेरित होकर इस घटना को अंजाम दिया। फिल्म के विलेन ब्लोफेल्ड के पास पिरान्हा से भरा एक पूल होता है, जिसमें वह अपने सहयोगी को फेंक देता है।

लोगों में भय बनाने के लिए ऐसी सजा देता है किम

ब्रिटेन के खुफिया विभाग के मुताबिक, पिरान्हा टैंक में फेंकवाना किम के क्रूरतम सजाओं में से एक है। वह लोगों में भय बनाने के लिए अपने दुश्मनों को ऐसी सजा देता है। वह इसका इस्तेमाल पॉलिटिकल टूल के रूप में करता है। इससे पहले किम अपने परिवार के लोगों और कई वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों को अपने भाषण के दौरान ताली नहीं बजाने की वजह से मरवा चुका है।

मार्च में अमेरिकी राजनयिक को फायरिंग स्क्वाड से मरवा दिया

इससे पहले ट्रम्प के साथ किम की मीटिंग तय कराने वाले विशेष प्रतिनिधि किम ह्योक चोल को तानाशाह को धोखा देने का दोषी पाया गया था। उन्हें मार्च में एयरपोर्ट पर विदेश मंत्रालय के चार वरिष्ठ अफसरों के साथ फायरिंग स्क्वाड से मरवा दिया गया। वह अपने सेना प्रमुख, उत्तर कोरिया सेंट्रल बैंक के सीईओ और क्यूबा और मलेशिया में राजदूतों को भी मरवा चुका है।

HAMARA METRO

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com